Asana Bandhas and Mudra | आसन बन्ध मुद्रा

योग के आठों अंगों का अपना विशिष्ट महत्त्व है, और वे साधक को अपने से अगले अंग के सुयोग्य बनाते हैं। यम और नियम तो भूमिकात्मक अंग हैं, किन्तु शेष छ: अंग तो योग से प्रत्यक्ष और अविभिन्‍न…

Continue ReadingAsana Bandhas and Mudra | आसन बन्ध मुद्रा

Dharna Dhyana Samadhi | धारणा ध्यान समाधि

आसनों से रोग नष्ट होते हैं, तथा शारीरिक सामर्थ्य उत्पन्न होती है। प्राणायाम से समस्त पाप नष्ट होते हैं। शरीर का शोधन होता है। प्रत्याहार से मन के विकार नष्ट होते एवं पात्रता उत्पन्न होती है। धारणा (dharna)…

Continue ReadingDharna Dhyana Samadhi | धारणा ध्यान समाधि

Pranayama complete steps | प्राणायाम

योग में सभी के लिए प्राणायाम ( Pranayama ) ही सबसे अधिक कौतुहल का विषय होता है, और हो भी क्यों न सभी योगिक क्रियाओ में इसका एक विशेष स्थान है। प्राणायाम के नित्य अभ्यास को पाप रूपी…

Continue ReadingPranayama complete steps | प्राणायाम

Yoga complete 101 | योग संपूर्ण विवरण

योग ( yoga ) क्‍या है ? मन की वृत्तियों पर काबू पाना ही योग है। योग केवल आसन ही नहीं, आहार, व्यव्हार, अचार विचार के तालमेल से जीवन को सुन्दर बनाने का नाम ही योग है। वर्तमान…

Continue ReadingYoga complete 101 | योग संपूर्ण विवरण

Maha Meru Shri Yantra | महा मेरु श्री यंत्र

महा मेरु श्री यंत्र ( Maha Meru Shri Yantra ) समस्त यंत्रों में गहन गहराई लिए हुए है, और प्राचीन काल से इसका मानव इतिहास से गहरा संबंध है।   इसके अलावा यंत्रों के क्षेत्र में इसकी सबसे मजबूत जड़ें…

Continue ReadingMaha Meru Shri Yantra | महा मेरु श्री यंत्र

Shri Ganesh Yantra | श्री गणेश यंत्र

हिन्दू धर्म और संस्कृति में भगवान गणेश को समस्त शुभ फलों को प्रदान करने वाले देवता के रूप में मान्यता प्रदान की जाती है। गणेश जी को समस्त सुख सुविधाओं के प्रदाता का अधिकार प्राप्त है।  प्रत्येक शुभ…

Continue ReadingShri Ganesh Yantra | श्री गणेश यंत्र

Durga Beesa Yantra | दुर्गा बीसा यंत्र

दुर्गा बीसा यंत्र ( Durga Beesa Yantra ) देवी दुर्गा की शक्तियों का  सबसे शुद्ध रूप है। स्वास्थ्य, धन, आराम, विलासिता, बहुतायत,और रिद्धि- सिद्धि की प्राप्ति के लिए स्थापित किया जाता है। माता दुर्गा एक रक्षक भी है, जो…

Continue ReadingDurga Beesa Yantra | दुर्गा बीसा यंत्र

Mahalakshmi Yantra | महालक्ष्मी यंत्र

महालक्ष्मी यंत्र ( Mahalakshmi Yantra ) देवी लक्ष्मी का दिव्य प्रतीक होता है, जो समृद्धि और धन की देवी है,और जो तीनो लोक में समृद्धि और ऐश्वर्य की सर्वोच्च दाता है। माना जाता है, कि देवी लक्ष्मी विभिन्न…

Continue ReadingMahalakshmi Yantra | महालक्ष्मी यंत्र

Kuber Yantra for Money | कुबेर यंत्र

कुबेर को धन के देवता के रूप में पूजा जाता हैं, और पूरी दुनिया में फैले सभी समृद्धि के दिव्य उदय का स्रोत भी उन्ही को कहा जाता हैं। उन्हें धन का निर्माता और समृद्धि और सभी भौतिकवादी…

Continue ReadingKuber Yantra for Money | कुबेर यंत्र

Chamatkarik Shri Yantra | श्री यंत्र

श्री यंत्र ( Shri Yantra ) में सभी देवताओं की दिव्य अभिव्यक्ति और चमत्कारिक शक्ति समाहित होती है। इसे ब्रह्मांड के निर्माता भगवान ब्रह्मा द्वारा धरती पर लाया हुआ बताया जाता है। इसी तरह यह सभी देवी-देवताओं के दिव्य…

Continue ReadingChamatkarik Shri Yantra | श्री यंत्र