सम्पूर्ण व्यापार वृद्धि यंत्र ( Vyapar Vradhhi Yantra ) व्यावसायिक क्षेत्र में विशेष महत्व के साथ व्यावसायिक पथ और वित्तीय क्षेत्र  में वृद्धि के लिए लाभदायक होता  है। यह सुंदरा लहरी से प्रेरित यंत्र है। 

व्यापार वृद्धि यंत्र को अपनाने से व्यावसायिक विकास का मार्ग प्रशस्त होता है और व्यक्ति को वित्त और प्रभुत्व की ऊंचाइयों की ओर ले जाता है।

व्यापार वृद्धि यंत्र की नियमित रूप से विधिवत पूजा करने से व्यापार या कारोबार के  क्षेत्र में बिक्री  और लाभ बढ़ाने की दिशा में कई दिशाएं और दरवाजे खुलते है ।

यह आपको अपने लक्ष्यों पर खरा उतरने और आपके सभी सपनों को पूरा करने के अलावा प्रगति और समृद्धि की ओर ले जाएगा। आपके सभी उद्यम सफल होंगे। जबकि साथ-साथ यह नए उद्यम खोलने का रास्ता भी खोलेगा। 

इसलिए सभी को व्यापार वृद्धि यंत्र को अपने कारोबारी स्थान पर रखना चाहिए और कम से कम कुछ संभव अनुष्ठान नियमित रूप से करना चाहिए।

जिन लोगों की कुंडली में खराब ग्रह हैं। वे अपने व्यापारिक  मार्ग में बाधाओं का सामना कर रहे है।

उन्हें व्यापार वृद्धि यंत्र को अपनाना चाहिए, क्योंकि इसकी शक्ति उन हानिकारक प्रभावों को काफी हद तक कम कर देगी और उन्हें बाधाओं  को पार करने की शक्ति प्रदान करेगी।

सम्पूर्ण व्यापार वृद्धि यंत्र बिना किसी नुकसान के बाधाओं को जीतकर तरक्की की ओर ले जाता है।

किसी भी तरह के रोज़गार  में समस्याओं का सामना करने वाले व्यक्तियों को भी अपने करियर पथ को मजबूत करने और उसी में विकास प्राप्त करने के लिए व्यापार वृद्धि यंत्र की पूजा करनी चाहिए।

यंत्रो के प्रयोग के आरंभ के पीछे जुड़े कारणों और लाभ के विषय में जानने के लिये yantra अवश्य पढ़े।

Sampurna Vyapar Vradhhi Yantra Sthapna | सम्पूर्ण व्यापार वृद्धि यंत्र स्थापना

बहुत से लोगों को कई बार कुंडली दिखाकर और वास्तु की पूजा करने से भी व्यापार में लाभ नहीं मिलता है। एक तरह से व्यापार फलता-फूलता नहीं है।

benifits-sampurna-vyapar -vradhhi-yantra-sthapna
Credit : Gerd Altmann

व्यवसाय चलाने के लिए कर्ज लेना पड़ता है। खर्च वही रहता है,और उसमे कोई कमी नहीं होती।  

ऐसी स्थिति में किसी भी गुरुवार को दुकान या कार्यालय के कैश बॉक्स में एक सक्रिय यंत्र स्थापित करना चाहिए।

1 एक बहुत ही चमत्कारी यंत्र है, इस यंत्र को दुकान या कार्यालय के कैश बॉक्स में रखने से धन लक्ष्मी का आगमन हमेशा बना रहता है, और व्यापार दो बार या कभी चार गुना हो जाता है।

2 किसी भी व्यापारी के लिए कर्ज मुक्ति और व्यापार में फंसे धन की मुक्ति के लिए यह सर्वश्रेष्ठ माना गया है।

3 व्यापार लाभ और प्रगति के लिए एक बहुत ही प्रभावी उपकरण माना जाता है, इस यंत्र की उपस्थिति के कारण, व्यापार जल्द ही उच्च स्तर पर पहुंच जाता है।

4 आपके व्यापारिक परिसर में सभी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा बाहर निकालकर सकारात्मकता का प्रवाह करता है। 

5 प्रगतिशील ताकतें प्रभावी ढंग से काम करने लगती हैं। शांति और समृद्धि वास करती है। 

Structure of Sampurna Vyapar Vradhhi Yantra | व्यापार सिद्धि यंत्र रूप

इस यंत्र को हमेशा भोजपत्र, समतल चांदी, सोने,ताम्बे या स्फ़टिक के समतल पत्र या टुकड़े पर बनवाया जाता है।

structure-sthapna-vidhi-sampurna-vyapar-vradhhi-yantra
Credit : Sidharth Sharma

यंत्र बनवाने के लिए सर्वप्रथम भोजपत्र या समतल चांदी, सोने, तांबे या स्फटिक पतरा तैयार करें या करवा लें।

इस पतरे पर यंत्र की आकृति के अनुसार उत्कीर्ण करके उसके तैयार होने पर स्वयं या फिर किसी ब्राह्मण से प्राणप्रतिष्ठा करवा लेनी चाहिए। इसके पश्चात संकल्प, करण्यास, ध्यान और हवन करना चाहिए।

व्यापार वृद्धि यंत्र हर जगह आसानी से नही मिलते, यदि मिल भी जाए तो वह प्राण-प्रतिष्ठित नहीं होते, बिना प्राण-प्रतिष्ठा के व्यापार वृद्धि यंत्र शक्तिहीन होता है।  

कुछ लोगों के अनुसार व्यापार वृद्धि यंत्र को कच्चे दूध से धोने से यंत्र प्राण-प्रतिष्ठित हो जाता है, पर ऐसा नही है।

सभी यंत्रों को प्राण-प्रतिष्ठित करने का अलग-अलग विधान है। व्यापार वृद्धि यंत्र को होली- दिवाली की रात्रि को स्थिर लग्न में सिद्ध किया जाता है।

Puja Vidhi of Sampurna Vyapar Vradhhi Yantra | व्यापार वृद्धि यंत्र की पूजा विधि

इस को स्थापित करने के लिए सबसे पहले सुबह जल्दी उठकर नित्य कर्म और स्नान कर इस यंत्र को पूजा स्थल पर रख दें।

puja-vidhi-sampurna-vyapar-vradhhi-yantra
Credit : F1 Digitals

इस यंत्र के सामने एक दीया जलाएं और उस पर फूल चढ़ाएं। यदि यंत्र पूर्ण प्राण-प्रतिष्ठा किया हुआ है, तो बस इस यंत्र को जाग्रत करना होता है।

इसके लिए किसी भी गुरुवार के दिन स्नान आदि करके अपने पूजा स्थल पर किसी लाल वस्त्र पर रक्खे, और धूप दीप जलाकर निम्न मंत्र का उच्चारण करते हुए 108 चावल चढ़ाएं।

।।ॐ ह्रीं अष्टलक्ष्म्यै नमः।।

ऐसा करने से यंत्र पूर्ण जाग्रत हो जाता है, फिर इस को पूजा स्थान या दुकान के गल्ले में रखें, होली और दीपावली जैसे मुहूर्त पर इस व्यापार वृद्धि यंत्र की पूजा अवश्य ही करे।

दैनिक पूजन में भी इसी यंत्र की पूजा करें आपको मनचाहा प्रतिफल प्राप्त होगा। धन प्राप्ति सम्बंधित जानकारी के लिये कुबेर यंत्र भी पढ़े जिसके लिये Kuber Yantra पर क्लिक करे।

लग्न, वर्षफल, राशियों अथवा भविष्यफल से सम्बंधित वीडियो हिंदी में देखने के लिए आप Hindirashifal यूट्यूब चैनल पर जाये और सब्सक्राइब करे।

अब आप हिन्दी राशिफ़ल को Spotify Podcast पर भी सुन सकते है। सुनने के लिये hindirashifal पर क्लिक करे और अपना मनचाही राशि चुने।