ठण्ड के मौसम में केवल हम अपनी अलमारी में गर्मियों के कपडे हटा कर सर्दियों के कपड़ों के लिए ही जगह बनाना ज़रूरी होता है, बल्कि अपनी ड्रेसिंग टेबल से त्वचा की क्रीम भी बदलना आवश्यक होता है। 

जहाँ सितंबर के महीने तक हल्की जेल मॉइस्चराइजर क्रीम या चारकोल क्लीन्ज़र ही आपकी त्वचा के लिए काफी होते है, जो दिसंबर के महीने में बिलकुल काम नहीं करते है। 

ठंडे तापमान के रूप में, शुष्क एवं ठंडी हवाएं तथा घर के अंदर गर्मी के लगातार संपर्क में आने पर आपकी त्वचा से नमी समाप्त होती हैं। 

त्वचा को स्वस्थ बनाये रखने ( Winter Skin Care ) के लिए आवश्यक तेल एवं नमी की ज़रूरत होती है, जो सर्दी का मौसम आते ही गायब होने लगती है। 

इससे उत्पन्न होने वाली समस्याओं के रूप में अति संवेदनशीलता, लालिमा तथा जलन से आप पीड़ित हो सकते हैं, जो  सतर्कता न बरतने पर समस्या गंभीर हो जाती है। 

इस समस्या का सामना न करना पड़े इसके लिए आपको सर्दियाँ आने से पहले ही तैयारी करना ज़रूरी होती है, जैसे समय क्लीन्ज़र एवं मॉइस्चराइजर का प्रयोग प्रारंभ कर देना। 

Moisturize Regularly | त्वचा की नमी बनाये रखना 

नियमित रूप से त्वचा की मॉइस्चराइजिंग करना एक अच्छे स्किनकेयर रूटीन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है, खासकर सर्दियों के महीनों के दौरान जब शुष्क, ठंडी हवा से रूखापन, खुरदरापन एवं  जलन उत्पन्न हो सकती है।

सर्दियों की शुरुआत से ही एक अच्छे एवं नमी युक्त मॉइस्चराइजर का उपयोग त्वचा में नमी को लॉक करने एवं आपकी त्वचा को हानिकारक तत्वों से बचाने में मदद कर सकता है।

मॉइस्चराइज़र का चयन करते समय, एक ऐसा चुनना सुनिश्चित करें, जो आपकी त्वचा के प्रकार (जैसे तैलीय, शुष्क, संयोजन) के लिए उपयुक्त हो। 

इसमें हाइलूरोनिक एसिड, ग्लिसरीन और सेरामाइड्स जैसे तत्व हों, जो नमी को आकर्षित करने और बनाए रखने में मदद कर सकते हैं।

यह एक अच्छा विचार है, कि नहाने या हाथ धोने के तुरंत बाद अपने चेहरे एवं शरीर पर मॉइस्चराइजर लगाएं, जबकि आपकी त्वचा  थोड़ी नम रहती है, ताकि नमी को बनाए रखने में मदद मिल सके। 

अपने होठों को रूखे एवं  फटे होने से बचाने के लिए उन पर मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल जरूर करें। ताकि त्वचा का काटना फटना रुक सके। 

मॉइस्चराइजर का उपयोग करने के अलावा, अन्य चीजें हैं, जो आप अपनी त्वचा को हाइड्रेटेड और स्वस्थ रखने में मदद के लिए कर सकते हैं। 

इसके अलावा आप ह्यूमिडिफायर का उपयोग करना, अपनी त्वचा को रूखे तत्वों से बचाना, गर्म फुहारों से बचना और खूब पानी पीकर भी त्वचा का बचाव कर सकते हैं। 

Switch Your Cleanser to a Balm, Oil or Cream | अपने क्लीन्ज़र को बाम, तेल या क्रीम में बदलें

यदि आप अपने क्लीन्ज़र को बाम, तेल या क्रीम में बदलना चाहते हैं, तो आपकी त्वचा के प्रकार एवं  आपकी त्वचा की विशिष्ट आवश्यकताओं पर विचार करना महत्वपूर्ण होता है।

उदाहरण के लिए, यदि आपकी सूखी या संवेदनशील त्वचा है, तो एक क्रीम बेस्ड क्लींजर आपके लिए अधिक उपयुक्त हो सकता है, क्योंकि यह आपकी त्वचा को मॉइस्चराइज करने और उसकी रक्षा करने में मदद करेगा। 

दूसरी ओर, यदि आपकी तैलीय या मुंहासे वाली त्वचा है, तो अतिरिक्त तेल को सोखने के लिए एक तेल या बाम क्लींजर अधिक प्रभावी हो सकता है।

किसी भी नए स्किनकेयर उत्पाद को अपने पूरे चेहरे पर इस्तेमाल करने से पहले पैच टेस्ट करना भी एक अच्छा विचार है, यह सुनिश्चित करने के लिए कि यह जलन या लालिमा का कारण नहीं बनता है। 

एक नए क्लीन्ज़र का उपयोग करने के लिए, आप इसे सप्ताह में कुछ बार उपयोग करने की कोशिश कर सकते हैं और धीरे-धीरे आवृत्ति बढ़ा सकते हैं क्योंकि आपकी त्वचा इसकी आदी हो जाती है।

सफाई के बाद अपनी त्वचा को संतुलित एवं  हाइड्रेट करने में मदद के लिए एक टोनर तथा मॉइस्चराइजर का प्रयोग करना सुनिश्चित करें। 

आपकी त्वचा के प्रकार एवं जरूरतों के लिए सर्वोत्तम प्रकार के क्लीन्ज़र का निर्धारण करने के लिए त्वचा विशेषज्ञ या त्वचा देखभाल पेशेवर से परामर्श करना भी सहायक हो सकता है।

Choosing the right exfoliator | रूखी त्वचा को हटाना

आपकी त्वचा को एक्सफोलिएट करने से मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने, छिद्रों को खोलने एवं आपकी त्वचा की बनावट में सुधार करने में मदद मिल सकती है। 

अपनी स्किन केयर रूटीन में एक अच्छे एक्सफोलिएटर को शामिल करके आप सर्दियों में अपनी त्वचा को बेहतर बना सकते हैं।

इसके लिए आप अपनी त्वचा का प्रकार निर्धारित करें, अलग-अलग प्रकार की त्वचा के लिए अलग-अलग एक्सफोलिएंट कम या ज्यादा उपयुक्त हो सकते हैं। 

उदाहरण के लिए, यदि आपकी  संवेदनशील त्वचा है, तो आप एक जेंटल एक्सफोलिएटर का उपयोग कर सकते हैं, जैसे कि रासायनिक एक्सफोलिएटर या बहुत महीन दाने वाला फिजिकल एक्सफोलिएटर।

सही एक्सफोलिएटर चुनाव अति आवश्यक होता है, क्योंकि  दो मुख्य प्रकार के एक्सफोलिएटर होते हैं, फिजिकल एक्सफोलिएटर, जिसमें अनाज या अन्य अपघर्षक कण होते हैं जो मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाते हैं। 

दुसरे रासायनिक एक्सफोलिएटर, जो अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड (एएचए) या बीटा हाइड्रोक्सी एसिड (बीएचए) जैसे अवयवों का उपयोग करते हैं। ) मृत त्वचा कोशिकाओं के बीच के संबंध  को भंग करने के लिए।

इसलिए आपको अपनी त्वचा के आधार पर सही प्रकार के एक्सफोलिएटर का चुनाव करना सबसे आवश्यक होता है। 

एक्सफोलिएटर का संयम से उपयोग करें क्योंकि यह अत्यंत महत्वपूर्ण है, कि त्वचा को अधिक एक्सफोलिएट न करें, क्योंकि यह त्वचा से उसके प्राकृतिक तेलों को छीन सकता है तथा  जलन पैदा कर सकता है। 

सप्ताह में 1-2 बार या उत्पाद निर्देशों के अनुसार एक्सफोलिएटर का उपयोग करके आप अपनी त्वचा से मृत कोशिकाओं को हटा कर उसकी प्राकृतिक सुंदरता को बनाए रख सकते हैं। 

Adjust the shower’s temperature | उचित तापमान के पानी से नहाना

सर्दियों के मौसम में देर तक  गर्म पानी से  स्नान करना सभी को अच्छा लगता है, लेकिन आपकी त्वचा के लिए ऐसा करना नुकसानदायक हो सकता है । 

adjust-the-shower-temperature-winter-skin-care

लंबे समय तक गर्म पानी के संपर्क में रहने से त्वचा की प्राकृतिक नमी छिन सकती है, जिससे त्वचा और भी रूखी हो जाती हैं। इसलिए प्रतिदिन एक बार ही  गुनगुने पानी से नहाएं।

अन्य उपयोगी लेख

1 लेज़र हेयर रिमूविंग ( Laser hair Removal )

2 सही नींद लेना ( Best sleeping position tips )

3 पिम्पल कैसे हटाये ( Pimple )

4 आलू फेस पैक ( New potato face pack )

5 चेहरा और टमाटर ( Magical tomato for face )

6 फ्रूट फेस पैक ( 4 Amazing fruit face pack )

7 खीरा फेस मास्क ( Kheera face mask )

Switching to a cream-based moisturiser rather than a lotion | लोशन की बजाय क्रीम बेस्ड मॉस्चराइज़र का प्रयोग 

यदि आप लोशन बेस्ड मॉइस्चराइजर से क्रीम बेस्ड  पर स्विच करने पर विचार कर रहे हैं, तो आपको कुछ बातों पर विचार करना चाहिए। सबसे पहले, इन दो प्रकार के मॉइस्चराइज़र के बीच के अंतर को समझना महत्वपूर्ण है। 

लोशन आमतौर पर बनावट में हल्के होते हैं तथा त्वचा में अधिक आसानी से अवशोषित हो जाते हैं, जबकि क्रीम गाढ़ी होती हैं और बहुत शुष्क या संवेदनशील त्वचा के लिए अधिक उपयुक्त हो सकती हैं।

लोशन से क्रीम पर स्विच करते समय, आपकी त्वचा के प्रकार एवं आपकी त्वचा की विशिष्ट आवश्यकताओं पर विचार करना महत्वपूर्ण है।

उदाहरण के लिए, यदि आपकी त्वचा तैलीय या मुहांसे वाली है, तो हल्का लोशन-आधारित मॉइस्चराइजर आपके लिए अधिक उपयुक्त हो सकता है। क्योंकि यह त्वचा पर चिकना अवशेष नहीं छोड़ेगा।

 दूसरी ओर, यदि आपकी सूखी या संवेदनशील त्वचा है, तो आपकी त्वचा की ज़रूरतों को हाइड्रेशन और सुरक्षा प्रदान करने के लिए एक गाढ़ी क्रीम अधिक प्रभावी हो सकती है।

Apply skin care products in layers | त्वचा को क्रीम की परतो से ढके 

अपने स्किनकेयर उत्पादों को लेयरिंग करने से उनकी प्रभावशीलता को अधिकतम करने में मदद मिल सकती है और आपकी त्वचा को ज़रूरी  देखभाल की आवश्यकता पूर्ती होती है। 

apply-skin-care-products-in-layers

सुनिश्चित करें, कि किसी भी स्किनकेयर उत्पादों को लगाने से पहले आपकी त्वचा साफ एवं  मेकअप से मुक्त हो। ताकि सभी उत्पादों का अधिकतम लाभ आपको मिल सके। 

अशुद्धियों तथा  अतिरिक्त तेल को हटाने के लिए एक सौम्य क्लीन्ज़र का उपयोग करें, और अपनी त्वचा के पीएच को संतुलित करने में मदद करने के लिए टोनर का प्रयोग करें।

विभिन्न बनावट वाले स्किनकेयर उत्पाद विभिन्न स्तरों पर त्वचा को पोषण और सुरक्षा देने में मदद कर सकते हैं। त्वचा के प्रकार के अनुसार इनका उपयोग करें। 

उदाहरण के लिए,आप विशिष्ट त्वचा समस्याओं  को लक्षित करने के लिए हल्के सीरम या सार का उपयोग कर सकते हैं, इसके बाद हाइड्रेशन और सुरक्षा की परत प्रदान करने के लिए  लोशन या क्रीम उपयोग कर सकते हैं।

एक सामान्य नियम के रूप में, स्किनकेयर उत्पादों को सबसे पतले से सबसे मोटे स्थिरता तक लागू करना सबसे अच्छा है। 

यह प्रत्येक उत्पाद को ठीक से अवशोषित करने की अनुमति देता है और यह सुनिश्चित करता है कि आपकी त्वचा को प्रत्येक उत्पाद का पूरा लाभ मिले।

प्रत्येक उत्पाद को पूरी तरह से अवशोषित होने दें, अगले उत्पाद पर जाने से पहले प्रत्येक उत्पाद को अपनी त्वचा में पूरी तरह से अवशोषित होने का समय दें। 

ऐसा करना यह सुनिश्चित करने में मदद करेगा कि प्रत्येक उत्पाद प्रभावी है और आपकी त्वचा ठीक से हाइड्रेटेड और पोषित कर रहा  है।

एसपीएफ़ को न भूलें अपने स्किनकेयर रूटीन के अंतिम चरण के रूप में कम से कम एसपीएफ 30 के साथ ब्रॉड-स्पेक्ट्रम सनस्क्रीन लगाना सुनिश्चित करें।

सनस्क्रीन आपकी त्वचा को यूवी किरणों के हानिकारक प्रभावों से बचने में मदद करता है, जिससे समय से पहले बुढ़ापा और त्वचा कैंसर हो सकता है।

Applying a Mask Overnight | रात में त्वचा को मास्क से ढके

अपने स्किनकेयर रूटीन में ओवरनाइट मास्क को शामिल करना आपकी त्वचा को सोते समय हाइड्रेशन और पोषण देने का एक शानदार तरीका हो सकता है।

applying-a-mask-overnight

अपनी त्वचा के प्रकार के अनुसार सही मास्क चुनें , बाजार में कई अलग-अलग प्रकार के रात में लगाने के मास्क उपलब्ध हैं, इसलिए सुनिश्चित करें कि वह आपकी त्वचा के प्रकार के लिए उपयुक्त हो। 

उदाहरण के लिए, यदि आपकी शुष्क त्वचा है, तो आप एक ऐसे मास्क की तलाश कर सकते हैं, जो समृद्ध और चिकना करने वाला हो। 

जबकि यदि आपकी तैलीय या मुंहासे वाली त्वचा है, तो आप एक ऐसे मास्क की तलाश कर सकते हैं जो हल्का और तेल रहित हो।

क्लींजिंग, टोनिंग और किसी भी अन्य स्किनकेयर उत्पादों को लगाने के बाद, अपनी त्वचा पर ओवरनाइट मास्क की एक पतली परत लगाएं।

आंखों को इससे बचना सुनिश्चित करें, क्योंकि इस नाजुक क्षेत्र के लिए कुछ मास्क बहुत नुकसानदायक हो सकते हैं।

सप्ताह में 1-2 बार मास्क का प्रयोग करें, ओवरनाइट मास्क आमतौर पर अन्य स्किनकेयर उत्पादों की तुलना में अधिक गहन होते हैं। 

इसलिए आप अपनी त्वचा को इनकी अधिकता से बचाने के लिए सप्ताह में केवल 1-2 बार ही इनका उपयोग करना चाह सकते हैं।

उपरोक्त उपायों के द्वारा आप अपनी त्वचा को सर्दियों में भी दमकता हुआ बना सकते है, जिससे आपकी सुंदरता और भी निखार सके। 

फैशन, संस्कृति, राशियों अथवा भविष्यफल से सम्बंधित वीडियो हिंदी में देखने के लिए आप Hindirashifal यूट्यूब चैनल पर जाये और सब्सक्राइब करे।

हिन्दी राशिफ़ल को Spotify Podcast पर भी सुन सकते है। सुनने के लिये hindirashifal पर क्लिक करे और अपना मनचाही राशि चुने। टेलीग्राम पर जुड़ने हेतु हिन्दीराशिफ़ल पर क्लिक करे।

Leave a Reply