प्रत्येक मानवीय सम्बन्ध की शुरुआत आपसी आकर्षण से ही होती है। विशेष रूप से महिला पुरुष के मध्य रोमांटिक सम्बन्ध की नींव ही उनके मध्य उत्पन्न आकर्षण पर ही निर्भर करती है। 

वैसे तो महिला पुरुष के मध्य आकर्षण को लेकर वैसे तो कोई विशेष नियम ( Law of attraction ) या सिद्धांत नहीं है, किन्तु ऐसी बहुत सी बातें हैं, जो समान रूप से एक पुरुष को एक महिला की ओर आकर्षित करती हैं।

यही वजह है, कि दोनों ही एक दुसरे को अपनी और आकर्षित करने के लिए हमेशा नयी-नयी तरकीब अपनाते रहते है। 

उसी प्रकार जिस प्रकार से आप अपने साथी को अपनी और आकर्षित कर पाने में कामयाब रहे थे ज़रूरी नहीं, दूसरा कोई और भी उसी प्रकार अपने प्रिय को अपनी और खींच पाने में सफल हो जाये। 

जब बात पुरुषों को आकर्षित करने की आती है तो काफी सारी ऐसी बातें होती हैं, जिनसे अधिकतर पुरुष एक महिला को पसंद करने लगते है। 

Law of attraction | आकर्षित करने के तरीके

आकर्षण के सिद्धांत को समझने के लिए हमें जिस बात को सबसे पहले अपने दिमाग में साफ कर लेने की ज़रूरत है, कि किसी के प्रति आकर्षित होने के लिए सिर्फ शारीरिक संरचना या सुंदरता ही प्रमुख नहीं होती है। 

law-of-attraction

किसी को भी अपनी और केवल आपकी सुंदरता के बलबूते पर नहीं कर सकते। कई बार आपके व्यवहार एवं स्वभाव से भी लोग आपसे आकर्षित हो जाते हैं। 

कई बार भले ही आप अधिक सुन्दर न होकर एक सामान्य रूप रंग की स्त्री हो सकती हैं, किन्तु आपकी शैली से हर कोई आपकी और खिंचा चला आ सकता है। 

जब आप किसी पुरुष को पसंद करने लगती हैं और चाहती हैं, कि वह भी आपकी और आकर्षित हो जाये तो उसके लिए आपको अपने भीतर कुछ बदलाव लाने की आवश्यकता होती है। 

Boost your self confidence | अपने भीतर आत्मविश्वास को बढ़ाएं 

जब भी आप चाहती हैं, की कोई पुरुष आपको पसंद करे तो सबसे पहले आपको अपने भीतर आत्मविश्वास को बढ़ाने की आवश्यकता होती है। 

क्योंकि यदि आप खुद ही अपने को कमज़ोर समझेंगी या खुद से ही खुश नहीं रहेंगी, तो कोई दूसरा व्यक्ति भी आपसे खुश नहीं रह सकता है। 

अपने आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिय आपको स्वयं को आपकी खूबियों से परिचित कराना होगा। आप जिन कामों में निपुणता रखती हैं, सबसे पहले आपको स्वयं उनको अपने संज्ञान में लेना चाहिए। 

आप में जो भी गुण हैं, उन पर आपको सबसे पहले खुद गर्व करना होगा तभी आप किसी और को अपनी काबिलियत का एहसास करा सकती हैं। 

इसी प्रकार आपका रंग रूप चाहे जैसा भी हो आपको सदैव इस बात का एहसास रहना चाहिए, कि आप ईश्वर की बनायीं हुई एक सुन्दर कृति हैं। 

आप शरीर एवं मन दोनों से बहुत सुन्दर है, यदि इस बात का एहसास आप स्वयं में रखेंगी तभी किसी और को इस बात को समझा पाएंगी। 

जब आप नए लोगों से मिलें तो अपने आप में पूरी तरह आश्वस्त रहें। क्योंकि यदि आप खुद में डरे या भ्रमित रहेंगे ,तो दूसरों का सामना करने से कतराते हैं।  

इसलिए पूरे आत्मविश्वास के साथ बिना डरे हुए उस व्यक्ति से बात करे जिससे आप आकर्षित है, तथा उन्हें अपनी ओर खींचना चाहते है उससे आंख मिलाकर बात करना उचित रहेगा। 

Develop your identity and worth | अपनी पहचान एवं महत्व को विकसित करना 

चाहें महिला हो या पुरुष वो ऐसे व्यक्ति से जुड़ना कभी पसंद नहीं करेंगे, जिनको अपने अस्तित्व की पहचान ही नहीं होती  है। 

develop-your- identity-and-worth

यदि आपको स्वयं अपनी पहचान का पता नहीं होगा तो आप किसी दुसरे को कैसे समझा सकते हैं, कि आपकी उनके जीवन में क्या महत्व है। 

जब तक आपको खुद ही नहीं मालूम होगा की आप अपने रिश्ते में अपने साथी से क्या अपेक्षाएं रखते है, तो उसको इस बात का ज्ञान कैसे करवा सकते हैं। 

इसलिए सबसे पहले खुद को पहचाने तभी आप किसी को अपनी और आकर्षित कर पाएंगे एवं एक दीर्घकालीन रिश्ते की शुरुआत आप दोनों के मध्य बन पाएगी। 

प्यार सम्बन्धो में तकरार न हो ऐसा असंभव है। पर तकरार प्यार को बढ़ाये न कि जीवन में तूफ़ान लाये। इन्ही बातो के लिए Healthy arguments in a relationship पर जाये।

Meaningful and loving relationship | सार्थक एवं प्रेमपूर्ण संबंध की शुरुआत करना 

किसी के भी साथ नए संबंध की ओर अग्रसर होने से पहले हमे सदैव इस बात का ध्यान रखना चाहिए, कि आपका नया सम्बन्ध आपकी भावनात्मक स्थिति के लिए लाभकारी रहे। 

इसलिए आपको हमेशा ऐसे ही सम्बन्ध की और अपने कदम बढ़ाना बेहतर रहेगा जो आपके वर्तमान एवं भविष्य को सुखद एवं सार्थक बना सके। 

विषय सम्बंधित निम्नलिखित लेख भी पढ़े।

1 प्रेम की बोली ( The coded language of love )

2 आकर्षण सिद्धांत ( How insane is attachment )

Sex Bonding in Relationship

4 शादी व सेक्स ( Healthy Married life vs Sex )

5 What Pulls a Man Toward a Woman

Improve physically | शारीरिक रूप से बेहतर बनाना 

किसी को भले ही केवल शारीरिक सुंदरता के आधार पर ही अपनी ओर आकर्षित नहीं किया जा सकता है, लेकिन इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता कि आपकी शारीरिक बनावट भी इसमें महत्वपूर्ण योगदान देती है। 

जब आप आंतरिक रूप से अपने विचारों को शुद्ध कर लेते हैं,तो आपकी आंतरिक सुंदरता में बढ़ोतरी हो जाती है, जिसका प्रभाव आपकी बाहरी सुंदरता पर भी दिखने लगता है। 

यही वह समय होता है जब आपको अपनी शारीरिक सुंदरता को निखारना चाहिए जिससे आप किसी को भी अपने आकर्षक रूप रंग एवं अपनी काया से मोहित कर सकें। 

अपनी शरीक सुंदरता को बेहतर दिखाने के लिए आपको न केवल अपनी त्वचा का ध्यान रखना चाहिए, बल्कि अपने पहनावे एवं मेकअप की कला को भी बेहतर बनाना चाहिए। 

आपके शरीर की बनावट के अनुसार एवं आपके रंग के अनुसार यदि आप वस्त्रों का चुनाव करेंगे तो लोगों की नज़रे आप पर टिके बिना नहीं रह सकती है। 

आपकी केश सज्जा आपके चेहरे के अनुसार रखने से आपकी सुंदरता में चार चाँद लग जाते है, जो आपके प्रति लोगों को आकर्षित करने में सहायक रहता है। 

Taking care of personal hygiene | शारीरिक सा-सफाई का ध्यान रखना 

यदि आपने एक सप्ताह में स्नान नहीं किया है, तो किसी नई पोशाक के द्वारा आप अपनी पसंद के व्यक्ति को अपनी और आकर्षित करने में कामयाब नहीं हो सकते हैं। 

इसलिए आपको किसी को भी अपनी और खींचने के लिए खुद को शारीरिक रूप से स्वच्छ रखना भी अत्यंत महत्वपूर्ण होता है। 

अपने बालों को नियमित एवं आवश्यकतानुसार धोना भी इसी का अहम हिस्सा होता है। क्योंकि चिकने, रूखे एवं बेजान बालों के साथ किसी को भी आपका चेहरा अच्छा नहीं लगता है। 

अपने दांतो एवं मुँह की स्वच्छता के ऊपर भी उतना ही ध्यान दीजिये जितना आप अपने वस्त्र शैली पर देते हैं, क्योंकि आपके गंदे दन्त एवं मुँह से आने वाली बदबू आपकी छवि को बिगाड़ देती है। 

इसलिए आपको सर्वप्रथम अपनी शारीरिक सुंदरता के साथ-साथ अपनी स्वच्छता पर भी ध्यान देने की आवश्यकता होती है, तभी आप किसी को अपनी और मोहित कर सकते हैं। 

Body language | बॉडी लैंग्वेज  

किसी को भी अपनी और आकर्षित करने के लिए आपकी बॉडी लेंग्वेज का सही होना अत्यंत आवश्यक होता है। आपकी सकारात्मक बॉडी लेंग्वेज की सहायता से आप किसी के भी मन में अपनी छवि को अच्छा बना पाते हैं। 

किसी के भी साथ आपका आई कॉन्टेक्ट या देखने का तरीका भी आपकी छवि के सकारात्मक होने का सबसे ज़रूरी हिस्सा। 

 हमेशा जब भी किसी से बात करें हमेशा अपने कंधे सीधे रखें ठोड़ी एकदम ऊपर गर्दन सीधी एवं रीढ़ भी सीधी रखें। 

जब भी किसी से बात करें हमेशा अपने चेहरे पर एक मंद मुस्कान बनाये रखें। कभी भी भवों को सिकोड़कर अपनी वार्ता की शुरुआत न करे। 

जब भी आप अपनी वार्ता की शुरुआत करें तो हमेशा हाँ में सर हिलाकर अपनी मूक सहमति प्रदान करे। जैसे यदि आप राज़ी हों तो पूछने पर किसी रेस्त्रां में डेट पर जाने के लिए हाँ कहें। 

अपना रुख थोड़ा मज़ाकिया भी रखें तभी आप दोनों एक दुसरे के साथ सहज हो पाएंगे। जो आपके रिश्ते के लिए अत्यंत लाभकारी सिद्ध होगा। 

कभी भी अपनी असहमति सीधे-सीधे सामने वाले के समक्ष न कहें, वरना शुरुआत में ही वह आपसे विमुख हो सकता है। 

मौका पड़ने पर आप अपनी चतुराई का परिचय देने से भी पीछे न रहे, अन्यथा उसे लग सकता है कि आपको दुनियादारी की समझ नहीं है। 

Last words

उपरोक्त तथ्यों के अनुसार आप और हम इस बात को अच्छे से समझ सकते हैं, कि किस प्रकार कोई महिला या पुरुष एक दूसरे को अपनी और कैसे आकर्षित कर सकता है। 

 सिर्फ छोटी-छोटी बातों के प्रति सजगता बरत कर आप किसी को भी अपनी ओर आसानी से खींच सकते हैं। जो एक मज़बूत संबंध की शुरुआत की पहली सीढ़ी होती है। 

यदि आप भी किसी पुरुष को अपनी और आकर्षित करने के विषय में गंभीरता से सोच रहे हैं, तो निम्नलिखित बातों पर अवश्य गौर करना आपके लिए लाभकारी सिद्ध हो सकता है। 

फैशन, संस्कृति, राशियों अथवा भविष्यफल से सम्बंधित वीडियो हिंदी में देखने के लिए आप Hindirashifal यूट्यूब चैनल पर जाये और सब्सक्राइब करे।

हिन्दी राशिफ़ल को Spotify Podcast पर भी सुन सकते है। सुनने के लिये hindirashifal पर क्लिक करे और अपना मनचाही राशि चुने। टेलीग्राम पर जुड़ने हेतु हिन्दीराशिफ़ल पर क्लिक करे।

Leave a Reply