प्रेम मानव जीवन का सबसे महत्वपूर्ण अंग है, जिसके बिना हम मानव जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं। प्रेम की अनुभूति हमारे जीवन में ठंडी बयार के समान है। 

प्यार सिर्फ चार अक्षर के शब्द से कहीं अधिक है और जब प्यार की बात आती है, तो हम सभी भावनाओं को अलग तरह से संप्रेषित करते हैं।

हम सभी अलग-अलग प्रकार से जीवन में अपने निकटतम एवं प्रियजनों के समक्ष अपनी प्रेम भावनाओं का प्रदर्शन करते हैं। 

जहाँ कुछ लोगों के लिए अपने साथ के प्रति अपने प्रेम प्रदर्शन का तरीका ( The coded language of love ) उसके लिए स्वादिष्ट भोजन बनाना होता है तो किसी के लिए प्रेम पत्रों के माध्यम से अपनी प्रेम अभिव्यक्ति करता है।  

The coded language of love | प्रेम की वास्तविक भाषा क्या है ?

प्यार केवल चार अक्षरों का शब्द भर नहीं होता, अपितु यह अपने भीतर अभिव्यक्तियों की सम्पूर्ण वर्णमाला को छिपाए रखता है।

the-coded-language-of-love-explain

हम सभी की अपने साथी के प्रति अपनी प्रेम अभिव्यक्ति की एक अलग भाषा होती है। कुछ लोग इसमें महारथ रखते हैं तो कुछ अपनी भावनाओं की अभिव्यक्ति में कमज़ोर रह जाते हैं। 

जैसे कई बार हम अपने साथी के जन्मदिन की तैयारी को लेकर कई दिन पहले से व्यस्त हो जाते हैं, किन्तु जब वो दिन आता है, तब आप सिर्फ रेस्टोरेंट में टेबल बुक करके सोचते हैं कि साथी आपकी भावनाओं को समझ गया। 

किंतु ऐसा नहीं होता, अपने प्रेम प्रदर्शन के लिए अभिव्यक्ति के सही तरीके को ही प्रेम की वास्तविक भाषा कहा जाता है। 

आप किस प्रकार अपने प्रेम का इज़हार अपने साथी के प्रति करते हैं, इसी बात पर निर्भर करता है कि आप दोनों के सम्बन्ध कितने प्रगाढ़ होंगे। 

प्यार सम्बन्धो में तकरार न हो ऐसा असंभव है। पर तकरार प्यार को बढ़ाये न कि जीवन में तूफ़ान लाये। इन्ही बातो ले लिए Healthy arguments in a relationship पर जाये।

विषय सम्बंधित निम्नलिखित लेख भी पढ़े।

1 आकर्षण सिद्धांत ( How insane is attachment )

2 Sex Bonding in Relationship

3 शादी व सेक्स ( Healthy Married life vs Sex )

5 ways to express love | प्रेम की अभिव्यक्ति के प्रकार 

जब आप और हम प्रेम की भाषा के विषय में बात करते हैं, तो सबसे पहला प्रश्न जो हमारे मन में उठता है वह है, कि प्रेम की कितनी भाषाएँ होती हैं, तथा इनके द्वारा किस प्रकार प्रेम की अभिव्यक्ति संभव है। 

5-ways-to-express-love

साल 1992 में मैरिज काउंसलर डॉ. गैरी चैपमैन ने अपनी पुस्तक “द 5 लव लैंग्वेजेस” में इस विषय पर विस्तार पूर्वक उल्लेख किया है। 

उनके अनुसार प्रेम की अभिव्यक्ति केवल प्रेम सम्बन्धों या रोमांटिक रिश्तों के लिए ही महत्वपूर्ण नहीं होती, बल्कि मानव जीवन के प्रत्येक सम्बन्ध की नींव इसी पर टिकी होती है। 

चेपमैन ने प्रेम की अभिव्यक्ति के लिए अपनी पुस्तक में पांच प्रेम भाषाओं के विषय में उल्लेखित किया है। यह भाषाएँ केवल शाब्दिक नहीं अपितु अभिव्यक्ति का तरीका हैं। 

1 वर्ड्स ऑफ़ एफफिरमेशन या प्रतिज्ञान की भाषा 

2 क्वालिटी टाइम ( साथ साथ समय बिताना )

3  शारीरिक स्पर्श

4  देखभाल करना 

5  उपहार देना

Words of affirmation | इशारो से प्रेम की अभिव्यक्ति

मानव जीवन में पहली प्रेम भाषा प्रतिज्ञान के शब्द या वर्ड्स ऑफ़ एफफिरमेशन होते हैं। शब्दों की सहायता से ही आप अपनी प्रेम की अभिव्यक्ति को अपने साथी एवं निकटतम तक पहुंचा पाते है। 

ये शब्द लिखित अथवा कथन के माध्यम से आपके साथी तक आसानी से पहुंचकर अपनी भावनाओं को उसके हृदय तक पहुँचाने का सटीक तरीका है। 

इस माध्यम को सफल रूप में अपनी प्रेम भाषा बनाने के लिए आपको साथी की किसी भी प्रकार से सराहना करना भी आता है। 

साथी को समय-समय पर यह कहना कि आप उससे बहुत प्रेम करते है भी प्रेम भाषा का ही एक सफल उदाहरण होता है। 

जब आप लगातार साथी द्वारा प्रशंसनीय कार्य करने पर उनकी सराहना करते रहते हैं, तो यह भी आपकी प्रेम अभिव्यक्ति का एक महत्वपूर्ण माध्यम बनता है। 

प्रतिज्ञान के शब्दों को प्रयोग करने के विषय में मूल कुंजी यह है, कि आप सही प्रकार से अपनी भावनाओं को अपने साथी तक पहुंचा पाएं। 

यदि आप बोल कर अपने प्रियजन को अपनी भावनाएं व्यक्त नहीं कर पा रहे हैं,तो इसके लिए उन्हें एक पत्र लिखे, टेक्स्ट मैसेज भेजें। 

इसके पीछे का मूल उद्देश्य सिर्फ आपके साथी तक आपकी भावनाओं को पहुँचाना होता है, अन्यथा आपका साथी कदापि नहीं जान पाएगा कि आप उनसे कितना प्रेम करते हैं। 

जब आप अपने दोस्त को यह बताना चाहते हैं, कि आप उसके भविष्य को लेकर चिंतित है या उसकी केयर करते हैं तो आपका उससे कहना कि वो अच्छा कर सकता है, उस तक आपकी भावना पहुंचा देता है। 

कुछ प्रमुख शब्द हैं, जिनकी सहायता से आप आसानी पूर्वक अपने प्रिय तक अपनी भावनाओं को पहुंचा देते हैं जैसे –

1 आई लव यू या मैं आपसे प्रेम करता या करती हूँ। 

2 हमारी मित्रता मेरे लिए महत्वपूर्ण है। 

3 आप मुझे भाग्य से मिले हो। 

4 मुझे तुम पर गर्व है। 

5 मुझे अपने जीवन का हिस्सा बनाने के लिए धन्यवाद।

उपरोक्त शब्दों का लगातार समय-समय पर उपयोग करके आप साथी तक अपने हृदय की भावनाओं को आसानी से पहुंचा  देते हैं। 

Spend time together in a meaningful way | साथ साथ समय बिताना 

अपने प्रिय के साथ क्वालिटी टाइम बिताना भी प्रेम भाषा का एक महत्वपूर्ण उदाहरण हो जाता है। अपना समय देकर भी आप अपनी भावनाओं को साथी तक पहुंचा देते हैं। 

जब आप अपने व्यस्तम दिनचर्या में से कुछ कीमती पल निकलकर अपने साथी के साथ व्यतीत करते हैं, तो उसे इस  बात का एहसास करा देते हैं, कि आपके लिए वह कितने महत्वपूर्ण हैं। 

इसी कारण से क्वालिटी टाइम अपने प्रियजन के साथ बिताना दूसरी सबसे अहम लव लैंग्वेज बन जाती है, क्योंकि साथ रहने से ही दो लोगों के मध्य प्रेम की भावना का विकास हो पाता है। 

एक दुसरे के साथ समय व्यतीत करना तभी एक लव लैंग्वेज का रूप ले सकता है। जब आप एक दुसरे के साथ होने पर एक दुसरे की भावनाओं के साथ जुड़ने का प्रयास करते है। 

यदि हम अपने रोमांटिक पार्टनर या जीवनसाथी के साथ पर्याप्त समय नहीं बिताते है तो आप दोनों की कामेच्छा में भी कमी होने लगती है। 

यदि आप अपने अन्य कामों एवं लोगों के साथ अधिक समय व्यतीत करते हैं, किन्तु अपने साथी की उपेक्षा करते हैं तो यह बात सिद्ध कर देती है, कि आप उसके प्रति असंवेदनशील हैं। 

हर एक व्यक्ति के लिए क्वालिटी टाइम व्यतीत करने का तरीका अलग-अलग होता है। जैसी आपको दिनभर की व्यस्तता के पश्चात् शाम को कुछ पल अपने परिवार एवं साथी के साथ बैठना प्रेम की अनुभूति हो सकता है। 

वही किसी दूसरे के लिए दिनभर में कुछ समय दैनिक गतिविधियों को पूरा करते हुए समय बिताना ही प्रेम की भावना को साथी तक पहुंचाने का माध्यम हो सकता है। 

इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप क्वालिटी टाइम किस प्रकार एक दुसरे के साथ व्यतीत कर रहे हैं, मूल बात यह है की आप एक दुसरे के लिए समय निकल पा रहे हैं। 

एक दुसरे के साथ क्वालिटी टाइम बिताने के माध्यम से अपने प्यार का इजहार करने के कुछ प्रमुख उदाहरण इस प्रकार हैं। 

रोज सुबह उठने से पहले कुछ मिनटों के लिए बिस्तर पर एक साथ एक दुसरे को बाँहों में लेकर आलिंगन करना।

हफ्ते में एक रात एक दूसरे के साथ खाना खाने एवं घूमने जाने का समय पक्का करना। 

अपने सबसे प्रिय मित्र के साथ भी घूमने का एक निश्चित समय निर्धारित करें। 

ध्यान रखें, कि जब आप एक दुसरे के साथ अपना समय व्यतीत कर रहे है, तब अपने मोबाइल स्विच ऑफ रखें। 

एक नियम निर्धारित करें कि आप दोनो रोज़ रात के भोजन के पश्चात् एक दुसरे के साथ टहलने जाएँ। 

Expressing affection through physical contact | छूकर प्यार जाताना

शारीरिक स्पर्श तीसरी प्रेम भाषा होती है। उचित आपसी सहमति से किया गया शारीरिक स्पर्श दो लोगों के मध्य प्रेम की भावना को बढ़ावा देने का काम करता है। 

स्पर्श की सहायता से प्रेम अभिव्यक्ति आपके अलग-अलग संबंधों के आधार पर अलग हो सकती है। जैसे माता का पुत्र को स्पर्श, पति-पत्नी का एक दुसरे को स्पर्श या भाई-बहन का स्पर्श। 

जब आप लम्बे समय तक अपने साथी से शारीरिक स्नेह नहीं प्राप्त करते हैं, तो आप खुद को अकेला या उससे अलग महसूस करते हैं।

अपने साथी के आपके प्रति लगाव या प्रेम को आप तब और भी अधिक महसूस कर पाते हैं, जब वो आपको लगातार बेवजह चूमता है या आलिंगनबद्ध कर लेता है। 

अपनी भावुकता के प्रदर्शन के रूप में भी शारीरिक स्पर्श अत्यंत सहायक सिद्ध होता है, बहुत सारी परिस्थितियों के दौरान। 

स्पर्श का मूल नियम है, कि जिस तरह से आप दूसरों को छू सकते हैं या  छूना चाहिए, वह वास्तव में आपके एवं उसके मध्य होने  वाले रिश्ते पर निर्भर करता है।

शारीरिक स्पर्श के माध्यम से स्नेह व्यक्त करना छोटे शारीरिक इशारों के माध्यम से हो सकता है, जैसे गले लगाना या गले लगाना।

रोमांटिक अथवा वैवाहिक संबंधों को मज़बूत बनाने के लिए आपको चुंबन, आलिंगन एवं यौन क्रियाओं में संलिप्तता भी आपके रिश्ते को प्रगाढ़ करता है। 

शारीरिक स्पर्श के माध्यम से प्यार का इजहार करने के कुछ उदाहरण इस प्रकार हैं –

1 अपने साथी को सुबह घर से निकलने से पहले चुंबन देकर गुड बाय कहना। 

2 सार्वजनिक स्थानों पर एक दुसरे को स्नेहपूर्ण एवं उदार स्पर्श करना। 

3 सुबह उठने से पहले एवं रात को सोने से पूर्व एक दूसरे को प्रेम पूर्वक आलिंगन करना। 

4 वैवाहिक संबंधों में शारीरिक यौन सम्बन्धों को स्थान देना भले ही आपको इसे शेड्यूल ही क्यों न करना पड़े। 

5 उन्हें दिलासा देते समय स्पर्श का उपयोग करना, जैसे कि अपना हाथ उनके ऊपर रखना या उन्हें पकड़ना।

Taking care is a form of love | देखभाल करना 

एक दुसरे के प्रति सेवा की भावना रखना चौथी प्रेम भाषा है, ज़रूरत पड़ने पर अपने साथी की सेवा सुश्रुषा करना बोलकर प्रेम व्यक्त करने से उत्तम होता है। 

एक दुसरे की सेवा द्वारा प्रेम व्यक्त केवल रोमांटिक संबंधों में ही नहीं अपितु प्रत्येक रिश्ते में किया जा सकता है। चाहे माँ अपने पुत्र की सेवा करे या एक दोस्त दूसरे दोस्त की। 

एक दुसरे की सहायता एवं सेवा करना किस प्रकार प्रेम की भाषा हो सकते है, ये निम्नलिखित तथ्यों के आधार पर सिद्ध किया जा सकता है। 

जब कोई साथी बिना पूछे किसी काम में आपकी मदद करता है, तो आप को जो सुख की अनुभूति होती है उससे आपका हृदय द्रवित हो जाता है। 

इससे आपके साथी को यह एहसास हो जाता है, कि परेशानी एवं दुःख के समय आप उनके साथ हमेशा हैं। 

यह इस बात का एहसास भी आपके साथी को करा देता है,कि आप उनके आगे बढ़ने में भी सहायक हैं। 

सेवा के कार्य भव्य इशारों के बारे में नहीं हैं, बल्कि विचारशील इशारों के बारे में हैं जो उनकी सेवा करते हैं, जैसे कि सुबह चाय या कॉफ़ी देना, या अपने व्यस्त दोस्त या प्रियजन के लिए सन्देश इधर उधर पहुँचाना।

सेवाभाव द्वारा अपनी प्रेम भावनाओं का प्रदर्शन करने के कुछ उदाहरण  इस प्रकार हैं –

1 बिना किसी विशेष अवसर या मांगे उन्हें रात के खाने पर ले जाना।

2 पार्टनर को बिना किसी उम्मीद के बबल बाथ के लिए राज़ी करना। 

3 अपनी महिला मित्र के लिए एक बेबी सिटर की व्यवस्था करना, जिससे वह अपने लिए कुछ समय निकाल सके। 

4 बिना कारण उन्हें उनकी पसंदीदा फिल्म पर ले जाना भले ही आपको वह फिल्म पसंद न हो। 

5 उनके पसंदीदा फूल/साबुन/शराब/चॉकलेट/ उनके लिए लेकर देना। 

Offering gifts | उपहार देना

एक दूसरे को उपहार देना एवं लेना प्रेम की अंतिम भाषा है। ध्यान रहे उपहार का आदान-प्रदान सदैव निस्वार्थ भाव से ही किया जाए, तभी वह सच्ची प्रेम भाषा बन  पाता है। 

प्रेम पूर्वक दिया गया छोटा सा उपहार भी आपके साथी तक आपकी भावनाओं का सच्चा वाहक बन सकता है। इसके लियी महंगे तोहफों की आवश्यकता कदापि नहीं होती है। 

उपहार को प्रेम भाषा के रूप में इस्तेमाल करने के लिए आपको निम्न कार्य करने चाहिए –

1 आपका तोहफा साथी को महसूस करा सके, कि आपने दिल से इस तोहफे को चुना है। 

2 आपका तोहफा ऐसा होना चाहिए, जिससे आपके साथी को लगे कि आप उसके लिए संसार की सबसे कीमती चीज़ लाये हैं। 

3 उपहार देना कभी भी एक फ़िज़ूलख़र्ची नहीं होता है। क्योंकि छोटा सा उपहार भी आप दोनों के लिए एक स्मृति चिन्ह का काम करता है। जिसके साथ आप दोनों की यादें हमेशा के लिए जुड़ जाती हैं। 

4 उपहार कोई भी हो सकता है, सिर्फ उससे आपकी सच्ची भावनाओं का जुड़ा होने के साथ साथी तक पहुंचना आवश्यक होता है। 

5 जैसे आप अपने मित्र से मिलने जाते समय उसके लिए उसकी पसंदीदा कैंडी या पेस्ट्री लेजाकर उसे एहसास करा देते हैं, कि आप उनकी पसंद जानते हैं। 

6 आपके साथी के पसंदीदा फूलों का एक गुलदस्ता उसको आपके प्रति प्रेम से भर देता है। इससे फर्क नहीं पड़ता,कि उस सड़क किनारे से खरीद गया है या महंगी फूलों की दुकान से। 

7 अपने दोस्तों, प्रेमी अथवा नज़दीकी रिश्तेदारों को बिना अवसर के ऐसे ही थॉटफुल ग्रीटिंग कार्ड देकर भी प्रेम प्रदर्शन किया जा सकता है। 

Alterations in love language  | अन्य पहलू 

पांच प्रेम भाषाएं आपके रिश्ते एवं एक-दूसरे को समझने के लिए एक महान रूपरेखा प्रदान करती हैं, लेकिन वे जरूरी तथ्य नहीं दर्शाते हैं, कि हर कोई प्यार कैसे देना और दिखाना चाहता है।

संभावना है कि आप एक से अधिक प्रेम भाषाओं के साथ दृढ़ता से प्रतिध्वनित होते हैं तथा आपके साथी एवं अन्य प्रियजन भी महसूस कर पाते हैं।

लिंग एवं  सांस्कृतिक मानदंड भी काफी हद तक स्थानांतरित हो गए हैं क्योंकि प्रेम भाषाओं को पहली बार पेश किया गया था। 

उसके बाद आज हम कैसे प्यार का इजहार करते हैं और हम कैसे प्यार करना चाहते हैं, यह भी समय के साथ-साथ बदल गया है। 

आज प्रेम की भाषा के नए नए स्वरूप हो गए हैं, क्योंकि आज महिलाएं पुरुषों की अपेक्षा कामकाजी हो  गयी हैं, तो पुरुष घर संभालने लगे हैं, जिससे सेवा के कार्यों द्वारा प्रेम प्रदर्शन का तरीका बदल गया है। 

यदि आप किसी रिश्ते में बेहतर समझ और संचार की तलाश कर रहे हैं, तो मूल प्रेम भाषाएँ एक अच्छी शुरुआत हो सकती हैं, लेकिन ऐसे अन्य तरीके भी हैं, जिनका आप उपयोग कर सकते हैं।यह क्या होता है ?

इस शब्द की उत्पत्ति कैसे हुयी ? आदि प्रश्नो के उत्तर जानने के लिये “गैस लाइटिंग क्या है ? ” (What is Gaslighting) अवश्य पढ़े।

इससे प्रभावित व्यक्ति के लक्षण एवं बचने के उपाय जानने के लिये Gaslighting symptoms and precautions और इससे होने वाले विस्तृत दुष्प्रभावों को जानने के लिये Gaslighting side effects पर जाये।

Conclusion | निष्कर्ष 

हर किसी का अपने प्यार को जताने का तरीका अलग होता है। जबकि आपको इसे सुसमाचार के रूप में नहीं लेना चाहिए, प्रेम की भाषा एक दूसरे को बेहतर ढंग से समझने के आपके रास्ते में मददगार शुरुआती बिंदु हो सकती हैं।

इसलिए आप अपनी सुविधा के अनुसार अपनी खुद की प्रेम भाषा का निर्माण भी कर सकते हैं। जिससे आप खुद को अधिक सहज महसूस कर सकें। 

फैशन, संस्कृति, राशियों अथवा भविष्यफल से सम्बंधित वीडियो हिंदी में देखने के लिए आप Hindirashifal यूट्यूब चैनल पर जाये और सब्सक्राइब करे।

हिन्दी राशिफ़ल को Spotify Podcast पर भी सुन सकते है। सुनने के लिये hindirashifal पर क्लिक करे और अपना मनचाही राशि चुने। टेलीग्राम पर जुड़ने हेतु हिन्दीराशिफ़ल पर क्लिक करे।

Leave a Reply