हम सभी ज्योतिष के अनुसार 12 राशियों के अधीन आते हैं। हर राशि के व्यक्ति का अपना एक विशेष व्यक्तित्व एवं खूबियां होती हैं। 

जिसका आधार उस राशि पर पड़ने वाले ग्रहों एवं नक्षत्रों का प्रभाव बनता है। यही कारण है कि कुछ राशि के लोग स्वभावानुसार दूसरों से अत्यंत निर्णायक या तुलनात्मक व्यवहार करते हैं। 

भले ही आप दूसरों के प्रति जो भी विचार या व्यवहार करते हैं उसके पीछे आपके पास प्रमाणित कारण हो सकते है, किन्तु दूसरों के लिए आपका यह व्यवहार दूसरों को अत्यंत आलोचनात्मक लग सकता है। 

बारह राशियों के चक्र में तुलनात्मक या आलोचनात्मक रूप से सबसे कठोरतम व्यवहार करने वाली राशियां ( The most judgmental zodiac signs ) कौन सी हैं ?

कई बार आप जाने -अनजाने में दूसरों की छोटी से छोटी बात पर भी अपनी राय देते समय अत्यधिक कठोर हो जाते हैं, जिसका दुष्प्रभाव दूसरों के मन में आपकी छवि पर भी पड़ सकता है। 

दुसरे लोग ही नहीं कई बार आप भी अपने इस व्यवहार को लेकर थोड़ा सोच में पड़ सकते हैं, कि न चाहते हुए भी आप ऐसा व्यवहार बार-बार क्यों कर जाते हैं। 

किन्तु लाख सोचने के बाद भी आप इस तथ्य से परिचित नहीं हो पाते कि इसका सबसे प्रमुख कारण आपकी राशि का ज्योतिषीय प्रभाव है। 

The Most Judgmental Zodiac Signs ( Aries | मेष राशि )

बारह राशियों के चक्र में मेष राशि का न केवल राशि चक्र में प्रथम स्थान है, अपितु दूसरों के प्रति तुलनात्मक या आलोचनात्मक व्यवहार रखने में भी आप सबसे आगे रहते हैं। 

aries-the-most-judgmental-zodiac-signs

आपके लिए जीवन में सभी चीज़ों के सही होने से अधिक प्रिय कुछ भी नहीं हो सकता है। आप अपने आलोचनात्मक नज़रिय से अपने से जुड़े नज़दीकी से नज़दीकी रिश्ते को भी अछूता नहीं छोड़ते हैं। 

इसके पीछे आपका खुद को सर्वश्रेष्ठता की दौड़ में प्रथम रखने की प्रबल इच्छा होती है। आप कभी भी किसी भी बात में दूसरों से पीछे नहीं रह सकते हैं। 

यही कारन है कि आप अपने आस-पास सभी चीज़ो एवं लोगों को भी उसी प्रकार से देखना चाहते हैं। इसके लिए आप सदैव दूसरों को उनकी कमियां बताने से चूकते नहीं हैं। 

आप कई बार अत्यंत आवेगपूर्ण व्यवहार भी अपना लेते हैं अपना पक्ष रखने के लिए, जिसकी वजह से आप अपने कई करीबियों से भी दूर हो जाते हैं। 

मेष राशि वाले जब गुस्से में होते हैं तो अक्सर ऐसी बातें कह देते हैं जो उनके कहने का मतलब नहीं होता, लेकिन एक बार जब वे फिर से शांत हो जाते हैं, तो उन्हें अपने व्यवहार पर पछतावा होगा।

आप कई बार लोगों को कुछ ऐसा करने के लिए मजबूर कर देते है, जिसको करने के पीछे कोई मज़बूत तथ्य नहीं होता है ,सिर्फ आप ऐसा चाहते है इसलिए ऐसा होना चाहिए। 

उदाहरण के लिए, यदि आप राजनीति की बात कर रहे हैं और कोई ऐसा कुछ कहता है जिससे आप सहमत नहीं हैं, तो आप बातचीत को तब तक समाप्त  नहीं होने देंगे जब तक आप उन्हें गलत साबित नहीं कर देते हैं। 

यदि आप अपने जीवन में कुछ भी करना या पाना चाहते है उसके लिए आपका मानसिक एवं शारीरिक रूप से स्वस्थ होना जरूरी है। अतः स्वयं की सही देख्भाल के लिए “स्वयं की देखभाल” (self-care) जरूर पढ़े।

शादी के बाद पति पत्नी के बीच के अंतरंग सम्बन्धो ( Married life vs sex) और संभावित समस्याओ को जानने के लिए लिंक पर क्लिक करे।

Taurus | वृषभ राशि 

वृषभ राशि के अंतर्गत जन्म लेने वाले लोग अपनी राशि पर ग्रहों के प्रभाव के कारण अत्यंत गुस्सैल एवं आसानी से क्रोधित हो जाने वाले लोग होते हैं। 

वो अपनी छोटी सी बात भी उनकी इच्छानुसार न होने पर किसी पर भी अचानक क्रोधित होकर आपको आश्चर्यचकित कर सकते हैं। 

भले ही वृषभ राशि का शासक ग्रह शुक्र ही क्यों न हो, जो प्रेम एवं करुणा का प्रतीक होता है। किन्तु आपका शासक ग्रह ही आपको हर बात एवं वस्तु को पूरी तरह से सही रूप में रखने के लिए बाधित भी कर देता है। 

आपके लिए जीवन में दोस्ती एवं अन्य रिश्ते सर्वाधिक महत्वपूर्ण स्थान रखते है, साथ ही आप जैसा खुदके लिए चीज़ों को बनाना चाहते हैं, वैसा ही अपने से जुड़े लोगों के लिए भी सोचते हैं। 

यही कारण है, कि आप कई बार अत्यंत कठोर हो जाते हैं, तथा अपने से जुड़े लोगों के प्रति अत्यंत अव्यवहारिक रूप से अपनी भावनाओं का प्रदर्शन करते हुए उनसे भी वही अपेक्षा रखते है जैसी खुद से रखते हैं। 

लोग आपकी इस भावना को समझ नहीं पाते और आपको अव्यवहारिक एवं गुस्सैल स्वभाव का व्यक्ति समझकर आपसे दूरी बना लेते हैं। 

सेक्स और उससे जुड़े सम्बन्धो के विषय में जानने के लिये सेक्स और संबंध (sex bonding in relationship ) भी पढ़े।

आइये जानते है, कि किस तरह मंगल की विभिन्न राशियों में स्थिति हमारे यौन जीवन को प्रभावित (How Mars affects sex life) करती है।

Leo | सिंह राशि 

सिंह राशि से सम्बन्ध रखने वाले लोग राशिचक्र के सबसे महत्वकांशी एवं हर बात में खुद को सर्वश्रेष्ठ साबित करने की होड़ में सबसे आगे रहते हैं। 

सही मायने में आप ही हैं जो राशि चक्र के जन्मजात नेता के गुणों से परिपूर्ण व्यक्तित्व के स्वामी हैं। आप अपने इसी गुण के कारण अपने जीवन में कुछ भी गलत देखना पसंद  नहीं करते। 

आपका यही स्वभाव हमेशा दूसरों को कड़ी नज़रों से देखने लगते हैं। जिसकी वजह से लोग आपको एक आलोचक के रूप में देखने लगते हैं। 

आप भले ही आमतौर पर दूसरों के प्रति आलोचनात्मक नहीं होते हैं , केवल व्यक्तिगत स्तर पर खुद को सर्वश्रेष्ठ बनाना चाहते हैं।

लेकिन अगर आप एक ऐसे कार्यस्थल या रिश्ते में जहाँ आप खुद को ऐसे लोगों से घिरा पाते है जो आपसे प्रतिस्पर्धा  करते हैं। 

 तो वे खुद की तुलना दूसरों से करने से खुद को रोक नहीं पाते हैं तथा  उन लोगों की आलोचना करना शुरू कर देते हैं जिनके खिलाफ वे प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं।

वैसे तो आप कभी भी सामाजिक रिश्तों से दूर नहीं भागते हैं, किन्तु कई बार अनावश्यक रूप से लोगों को अपने प्रभाव में लेने के लिए आलोचनात्मक रवैया अपना लेते हैं। 

सभी 12 राशियों के यौन व्यव्हार को जानने और समझने के लिये यौनसुख राशि प्रभाव (12 Zodiac sex behavior) लिंक पर जाये।

आपके लग्न को जानने के पश्चात उपयुक्त साथी जानने के लिए सर्वोत्तम सहचर (Best 5 zodiac sex partner) पर क्लिक करे और जाने।

Scorpio | वृश्चिक राशि 

यदि आप में से कोई भी अपनी आलोचना से डरता है या किसी के द्वारा आप में कमियां निकलने से दुखी या रुष्ट हो सकता है, तो आपको वृश्चिक राशि वालों से थोड़ा दूर रहना ही आपके लिए बेहतर रहेगा। 

वृश्चिक राशि वालों का स्वभाव जल एवं मंगल ग्रह की तीव्रता वाले प्रभाव का मिलाजुला संयोजन होता है, जिसके कारण आपका व्यवहार अचानक से दूसरों के प्रति विस्फोटक हो सकता है। 

अपने शासक ग्रह मंगल के प्रभाव के कारण आप कई बार आप दोस्तों के प्रति भी अस्थिर व्यवहार  करते हुए बिना सोचे समझे अत्यंत क्रोधित एवं कठोर हो सकते है। 

आप आमतौर पर गलत समझे जाने की भावना से पीड़ित हो सकते हैं तथा  गोपनीयता पर उच्च मूल्य रख सकते हैं, जिसका अर्थ है कि वे नए रिश्ते बनाते समय संघर्ष कर सकते हैं।

यह क्या होता है ? इस शब्द की उत्पत्ति कैसे हुयी ? आदि प्रश्नो के उत्तर जानने के लिये “गैस लाइटिंग क्या है ? ” (What is Gaslighting) अवश्य पढ़े।

इससे प्रभावित व्यक्ति के लक्षण एवं बचने के उपाय जानने के लिये Gaslighting symptoms and precautions और इससे होने वाले विस्तृत दुष्प्रभावों को जानने के लिये Gaslighting side effects पर जाये।

Virgo | कन्या राशि 

यदि आपने कन्या राशि वालों के साथ ज्यादा समय बिताया है, तो संभव है कि आपको हमेशा ऐसा लगे कि वे चुपचाप आपके बारे में राय बना रहे हैं।

कन्या राशि के अंतर्गत आने वाले लोग विश्लेषणात्मक संकेत कहानियों और स्थितियों के सबसे छोटे विवरण से ग्रस्त हो सकते है, इसलिए अगोचर तर्क के आधार पर दूसरों के प्रति निर्णय पारित कर देते  है।

यह लोग सावधानीपूर्वक हमेशा खुद से एवं दूसरे लोगों से सर्वश्रेष्ठ की उम्मीद करते हैं, यदि आप उनके मानकों पर खरा नहीं उतरते हैं, तो वे कुछ भी कहने में संकोच नहीं करेंगे।

आपके लिए यह आलोचनात्मक व्यवहार कोई गलत बात नहीं होती है, किन्तु दूसरों को आपका यह व्यवहार कई बार अत्यंत ख़राब लग सकता है। 

कोई भी रिश्ता प्यार और तकरार के उतार-चढ़ाव को पार कर मजबूत और लम्बा चलता है। इन्ही बातो को समझने के लिये Healthy arguments in a relationship पर जाये।

Libra | तुला राशि 

तुला राशि से सम्बन्ध रखने वाले लोग भी अपनी राशि चिन्ह के सामान सभी बातो को सटीकता के तराज़ू में टोल कर देखना पसंद करते हैं। 

आप कभी किसी के साथ पक्षपात करना पसंद नहीं करते, यही वजह है कि यह कदापि संभव नहीं हो सकता कि आप सिर्फ किसी के आपका नज़दीकी होने पर उसकी आलोचना नहीं करेंगे। 

जिस प्रकार न्याय की देवी की आँखों पर पट्टी बंधी होती है ,जिसके कारन वो किसी के साथ पक्षपात नहीं करती उसी प्रकार तुला राशि के लोग भी अपनी बात निर्भीकता एवं कठोरता से कहना पसंद करते हैं। 

ये बात आपके लिए आदर्शपूर्ण हो सकती है, किन्तु दुसरे भी आपके इस व्यवहार से प्रसन्न हो ऐसा संभव नहीं होता, जिससे आपकी छवि एक आलोचक राशि चिन्ह की बन जाती है। 

उपरोक्त तथ्यों के आधार पर आप समझ सकते हैं, कि कौनसे राशि चिन्ह अपने व्यक्तित्व में आलोचनात्मक व्यवहार किन कारणों से रखते है। 

फैशन, संस्कृति, राशियों अथवा भविष्यफल से सम्बंधित वीडियो हिंदी में देखने के लिए आप Hindirashifal यूट्यूब चैनल पर जाये और सब्सक्राइब करे।

हिन्दी राशिफ़ल को Spotify Podcast पर भी सुन सकते है। सुनने के लिये hindirashifal पर क्लिक करे और अपना मनचाही राशि चुने। टेलीग्राम पर जुड़ने हेतु हिन्दीराशिफ़ल पर क्लिक करे।

Leave a Reply